दुनिया को भी वह प्राप्त हो, जो सुख मुझे प्राप्त हुआ, वह पूरे विश्व को प्राप्त हो 

दादा भगवान

स्वागत है !

दुनिया को भी वह प्राप्त हो, जो सुख मुझे प्राप्त हुआ, वह पूरे विश्व को प्राप्त हो

दादा भगवान

जीवमात्र निरंतर सुख की ख़ोज में हैं, किसी को भी दुख पसंद नहीं हैं| लेकिन यह खोज तब समाप्त होती हैं, जब शाश्वत सुख का स्रोत प्राप्त हो जाता हैं| अपने सच्चे स्वरूप द्वारा ही शाश्वत सुख की प्राप्ति हो सकती है| ए. एम्. पटेल, जिन्हे दादा भगवान के नाम से भी जानते हैं। उन्हें शाश्वत सुख का मार्ग मिल गया था। उन्होंने इस संसार के लिए एक बेजोड़ आध्यात्मिक विज्ञान दिया है। जो अक्रम विज्ञान के नाम से जाना जाता है।

अक्रम विज्ञान आत्मसाक्षात्कार पर आधारित है। इस अनोखे विज्ञान से हमें जीवन की व्यावहारिक समस्याओं का समाधान मिलता है, जिससे जीवन सुखमय हो जाता है।

ज्ञानीपुरुष की कृपा से सिर्फ दो घंटों की विधि (ज्ञानविधि) से आत्मज्ञान प्राप्त हो सकता है। अनेकों ने इस शाश्वत सुख का अनुभव किया है! आप भी इस सुख को प्राप्त कर सकते हैं!

आइए और प्राप्त कीजिए; आत्मज्ञानी पूज्य दीपकभाई देसाई द्वारा आत्मज्ञान का यह अनोखा अनुभव। वीडियो देखिए
Close Video

I can realize the soul

"I realized that I can see the separation only after gnan. "

Play Video
Close Video

True discovery of god within me

"Through this blessing gift, I have stepped over the line and become very detached. I am moving towards total and complete spiritual freedom. "

Play Video
Close Video

ज्ञान से शांति

"ज्ञान दिन से लेकर आज तक अनुभव कक्षा बढ़ती जा रही है| वैसे कही पर जाने पर सिरदर्द की बीमारी रहती थी पर इस क्षेत्र के प्रभाव से ऐसा नही होता है|"

Play Video
Close Video

Felt freedom from unhappiness

"Gnan was an experience I didn't expect to have. I had been looking for it from 20-25 years. The benefit for me was I felt freedom from everything. "

Play Video
Close Video

Easy and comfortable liberation

"After gnanvidhi something has changed, something really significant. I am no longer bound to be the personality that I thought I was bound to be. "

Play Video
I can realize the soul

I can realize the soul

" I realized that I can see the separation only... "

00:01:00
True discovery of god within me

True discovery of god within me

" Through this blessing gift, I have stepped over... "

00:04:25
ज्ञान से शांति

ज्ञान से शांति

" ज्ञान दिन से लेकर आज तक अनुभव कक्षा बढ़ती जा रही... "

00:02:01
Felt freedom from unhappiness

Felt freedom from unhappiness

" Gnan was an experience I didn't expect to have. I... "

00:11:41
Easy and comfortable liberation

Easy and comfortable liberation

" After gnanvidhi something has changed, something... "

00:02:36
Quotes
कभी ज्ञानी पुरुष या भगवान हों तब प्रेम दिखता है, प्रेम में कम-ज़्यादा नहीं होता, अनासक्त होता है, वैसा ज्ञानियों का प्रेम वही परमात्मा है। सच्चा प्रेम वही परमात्मा है, दूसरी कोई वस्तु परमात्मा है नहीं। सच्चा प्रेम, वहाँ परमात्मापन प्रकट होता है! 
शुद्ध प्रेम की परिभाषा

इस हफ्ते, जानिए कुछ नया

शुद्ध प्रेम की परिभाषा

प्रेम शब्द का इस हद तक दुरुपयोग हुआ है कि हरएक कदम पर इसके अर्थ को लेकर प्रश्न खड़े होते है। यदि यह सच्चा प्यार है तो, यह ऐसा कैसे हो सकता है? सिर्फ ज्ञानीपुरुष ही जो केवल प्रेम कि जीवंत मूर्ति हैं, हमें प्रेम कि सही परिभाषा बता सकते हैं। सच्चा प्रेम वही है जो कभी बढ़ता या घटता नहीं है। मान देनेवाले के प्रति राग नहीं होता, न ही अपमान करनेवाले के प्रति द्वेष होता है। ऐसे प्रेम से दुनिया निर्दोष...

READ more share
लेटेस्ट अपडेट्स
22 Jul
Happy Parent’s Day!

We spend the majority of our life with our parents and they are...

Read More
18 Jul
Happy Guru Purnima!

Guru Purnima is celebrated as a festival dedicated to Guru, who act...

Read More
18 Jul
Self Realization Ceremony in Toronto, Canada

On 16th July, 400 new seekers attained Self Realization through Gnan...

Read More
आगामी कार्यक्रम

हिस्सा लीजिए पूज्य दीपकभाई के प्रश्नोत्तरी सत्संग में और पाइए अपने जीवन की रोजमर्रा की समस्याओं के समाधान। ज्ञानविधि द्वारा अनुभव कीजिए आत्मा के आनंद का।

26 जुलाई to 28 जुलाई

Satsang & Gnanvidhi in Florence,AL

schedule region Russellville, AL, USA
SATSANG dateजुलाई 26
Satsang By Aptaputra dateजुलाई 27, 10:00 - 12:00
gnan vidhi date जुलाई 27, 17:00
Satsang By Aptaputra dateजुलाई 28, 18:30 - 21:00
address Address: Ralph C Bishop Community Center,210 S. Washington Ave
मिले पूज्य दीपकभाई से

जब पूज्य दिपकभाई सीमंधर सिटी में मौजूद हों, तब आप आसानी से दादा दरबार में उन से मिल सकते हैं और बात भी कर सकते हैं।

×
Share on
Copy