More

ज्ञान के पहले

ज्ञान के पहले

पूज्य दीपकभाई देसाई का जन्म, ९ मई १९५३ को गुजरात के मोरबी शहर में हुआ था। एक बार उनके बड़े भाई साहब ने उनसे कहा कि 'ज्ञानीपुरुष अंबालाल मूलजी भाई द्वारा दिया गया ज्ञान, अक्रम विज्ञान उन्हें पढ़ाई में मदद करेगा'। उस समय पूज्य दीपकभाई बोम्बे के वी.जे.टी.आई कॉलेज़ में इन्जीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे। इस मृदुभाषी, विनयी और अंतर्मुखी युवक को सांसारिक जीवन अर्थहीन और भार स्वरुप लगता था। उन्हें पता ही नहीं था कि ज्ञानीपुरुष से उनकी भेंट उनके जीवन की दिशा ही बदल देगा, जिसकी वे कल्पना भी नहीं कर सकते थे।

ज्ञान - आत्म-अनुभूति

६ मार्च १९७१ को पूज्य दीपकभाई ने परम पूज्य दादाश्री से आत्मज्ञान प्राप्त किया। उस समय वे १७ साल के थे। आत्मज्ञान प्राप्ति के बाद में उन्हें अक्रम विज्ञान को और अधिक गहराई से सीखने और समझने की लगन लग गई।

×
Share on
Copy