आध्यात्मिक कोटेशन

Quotes

संसार में जिस भी प्रकार के दुःख हैं, उन सभी का कारण मोह है।

Quotes

‘जो है वह’ दिखाई नहीं देता और ‘जो नहीं है वह’ दिखाई देता है, इसीका नाम मोह!

Quotes

हमें आत्मा संबंधी हमें नहीं करने दे, वे सभी हमारे विरोधी-कषाय हैं, उन पर हम ध्यान देंगे।

Quotes

कषायों का निवारण, उसीका नाम मोक्ष। पहले कषायों का निर्वाण होता है फिर ‘वह’(आत्मा का निर्वाण)!

Quotes

जहाँ कषाय हैं, वहाँ समकित नहीं है और जहाँ समकित है, वहाँ कषाय नहीं हैं।

Quotes

निर्ग्रंथ कब होगा? कषायों से रहित होगा तब। कषाय ही ग्रंथि हैं।

Quotes

कषायों का अभाव, वही आनंद।

Quotes

कषाय दबाने से चले जाएँ, ऐसे नहीं है वे ‘ज्ञान’ से जाते हैं।

Quotes

जिसके पास क्रोध है, वह क्रोध के ताप से सामनेवाले को वश में करने जाता है और जिसके पास क्रोध नहीं है, वह शील नामक चरित्र से सबको वश में कर सकता है! जानवर भी उसके वश हो जाते हैं!!!

Quotes

लोभ का अर्थ क्या है? दूसरों का छीन लेना।

Quotes

ऑटो रिक्शा में सवार होकर रास्ते में पैसे बिखेरते जाना, तेरा लोभ का स्वभाव छूट जाएगा।

Quotes

लोभी के दो गुरु एक धूर्त और दूसरा घाटा। घाटा आने पर लोभ की गाँठ एकदम से टूट जाती है!

×
Share on
Copy