Related Questions

सही ज्ञान की निशानी क्या है?

समकिती की निशानी क्या है? तब कहे कि, घर के सभी लोग कुछ उल्टा कर दें, फिर भी वह सही कर दे। प्रत्येक बात में सीधा ही करना, यह समकिती की निशानी है। हमने इस संसार की बहुत सूक्ष्म खोजबीन की है। अंतिम प्रकार की खोजबीन के पश्चात् हम ये सब बातें कर रहे हैं। व्यवहार में कैसे रहना चाहिए, वह भी देते हैं और मोक्ष में कैसे जा सकते हैं, यह भी देते हैं। आपकी अड़चनें किस प्रकार कम हों, यही हमारा हेतु है।

अपनी बात सामनेवाले को 'एडजस्ट' होनी ही चाहिए। अपनी बात सामनेवाले को 'एडजस्ट' नहीं हो तो वह अपनी ही भूल है। भूल सुधरे तो 'एडजस्ट' होगा। वीतरागों की बात 'एवरीव्हेर एडजस्टमेन्ट' की है।

प्रश्नकर्ता : दादाजी, 'एडजस्ट एवरीव्हेयर' यह जो आपने कहा है, उससे तो अच्छे अच्छों का हल निकल आ जाए!

दादाश्री : सभी का हल आ जाए। हमारे ये जो एक-एक शब्द हैं, वे सभी का शीघ्र हल लानेवाले हैं। वे ठेठ मोक्ष तक ले जाएँगे। इसलिए 'एडजस्ट एवरीव्हेर'!

प्रश्नकर्ता : अभी तक जहाँ अच्छा लगता था, वहाँ सभी एडजस्ट होते थे और आपकी बातों से तो ऐसा लगता है कि जहाँ अच्छा न लगे, वहाँ तू पहले एडजस्ट हो जा।

दादाश्री : 'एवरीव्हेर एडजस्ट' होना है।

×
Share on
Copy