Related Questions

क्या सामंजस्य का अभाव ही टकराव का कारण है?

प्रश्नकर्ता : लेकिन क्लेश होने का कारण क्या है? स्वभाव नहीं मिलता, इसलिए?

दादाश्री : अज्ञानता की वजह से। संसार का मतलब ही यह कि किसी का स्वभाव किसी से मिलता ही नहीं। यह ज्ञान मिलें, उसके लिए एक ही रास्ता है, 'एडजस्ट एवरीव्हेर'! कोई आपको मारे तो भी आप उसे 'एडजस्ट' हो जाना।

हम यह सरल और सीधा रास्ता बता देते हैं। और यह टकराव क्या रोज़-रोज़ होते हैं? वे तो जब अपने कर्मों का उदय हो, तभी होते हैं, उस समय हमें 'एडजस्ट' होना है घर में पत्नी के साथ झगड़ा हुआ हो तो उसके बाद उसे होटल ले जाकर, खाना खिलाकर खुश कर देना। अब तंत नहीं रहना चाहिए।

संसार की कोई चीज़ हमें फिट (एडजस्ट) नहीं होगी। हम उसे फिट हो जाए तो यह दुनिया सुन्दर है और अगर उसे फिट करने जाएँगे तो दुनिया टेढ़ी है। इसलिए 'एडजस्ट एवरीव्हेर'। हम उसमें फिट हो गए तो कोई हर्ज नहीं है।

×
Share on
Copy