Related Questions

बच्चों को चोरी करने से कैसे रोकें?

प्रश्नकर्ता: हमें कुछ कहना न हो, लेकिन मान लीजिए कि हमारा बेटा चोरी करता हो तो क्या चोरी करने दें?

दादाश्री: दिखावे के लिए विरोध करो, लेकिन अंदर समभाव रखो। बाहर देखने में विरोध और वह चोरी करे उस पर निर्दयता ज़रा भी नहीं होने देनी चाहिए। यदि अंदर समभाव टूट जाएगा तो निर्र्दयता होगी और सारा जग निर्दय हो जाता है।

उसे समझाओ कि ‘जिसके वहाँ चोरी की, उसका प्रतिक्रमण ऐसे करना और प्रतिक्रमण कितने किए यह मुझे बताना। तब फिर ठीक हो जाएगा। बाद में तू चोरी नहीं करने की प्रतिज्ञा कर। दुबारा चोरी नहीं करूँगा और जो हो गई उसकी क्षमा चाहता हूँ।’ ऐसे बार-बार समझाने से यह ज्ञान फिट हो जाएगा। ताकि फिर अगले जन्म में फिर चोरी नहीं करेगा। यह तो सिर्फ इफेक्ट (परिणाम) है, दूसरा नया न सिखाया जाए तो फिर नया खड़ा नहीं होगा।

यह लड़का हमारे पास सब भूलें कबूल करता है। चोरी करे वह भी कबूल कर लेता है। आलोचना तो जो ़गज़ब का पुरुष हो, वहीं हो सकती है। अगर ऐसा सब होगा तो हिन्दुस्तान का आश्चर्यजनक परिवर्तन हो जाएगा!

×
Share on
Copy