Related Questions

तलाक होने के क्या कारण हैं?

मतभेद पसंद हैं? मतभेद हों, तब झगड़े होते हैं, चिंता होती है, तो मनभेद से क्या होता है? मनभेद होने पर ‘डायवोर्स’ ले लेते हैं और तनभेद हो तब अर्थी निकलती है!

प्रश्नकर्ता: व्यवहारिक मामलों में जो मतभेद होते हैं, वे विचारभेद कहलाते हैं या मतभेद कहलाते हैं?

दादाश्री: वह मतभेद कहलाता है। यह ज्ञान लिया हो तो उसे विचारभेद कहते हैं, वर्ना फिर मतभेद कहलाता है। मतभेद से तो झटका लगता है!

प्रश्नकर्ता: मतभेद कम रहें तो वह अच्छा है न?

दादाश्री: मनुष्यों में मतभेद होना ही नहीं चाहिए। यदि मतभेद है, तो तब वह मानवता ही नहीं कहलाती। क्योंकि मतभेद में से कभी मनभेद हो जाता है। मतभेद से मनभेद हो जाए तो ‘तू ऐसी है और तू अपने घर चली जा’ ऐसा कहने लगता है। इसमें फिर मज़ा नहीं रहता। जैसे-तैसे निभा लेना।

×
Share on
Copy