Related Questions

दान/परोपकार के क्या लाभ हैं?

प्रश्नकर्ता : लोग दान क्यों देते हैं?

दादाश्री : लोग दान इसलिए देते हैं क्योंकि उन्हें बदले में कुछ चाहिए। एक व्यक्ति सुख देता हैं क्योंकि उसे बदले में सुख चाहिए। लोग मोक्ष के उद्देश्य से दान नहीं देते। जब आप देते हैं...जब आप दूसरों को सुख देते हैं, तो बदले में आपको सुख मिलता हैं। जो आप देंगे, वही आप पाएँगे। यह नियम हैं। दूसरों को देने पर 'हम' पाते हैं और दूसरों से छीन लेने पर हम 'खोते' हैं।

प्रश्नकर्ता : जब आत्मा और दान के बीच कोई संबंध नहीं है, तो फिर क्या दान देना ज़रूरी हैं?

दादाश्री : दान का मतलब है देना और फिर पाना। यह दुनिया एक गूंज की तरह हैं। आप जो भी करेंगे उसका अनुनाद होगा और वही आपको ब्याज के साथ वापस मिलेगा। इसलिए अगर आप देंगे तो आप पाएँगे। पिछले जन्म में आपने अच्छे हेतु के लिए जो भी दिया, उसके फल स्वरूप आपको इस जन्म में मिल रहा हैं। यदि इस जन्म में आप ऐसा नहीं करेंगे तो सब व्यर्थ हो जाएगा। क्या होगा अगर आप अपनी फसल के सारे गेहूँ खाने में खर्चकर लें तो बोने के लिए क्या रहेगा? और बाद में नहीं बोए तो?

निश्चित रूप से सबकुछ ऐसा ही हैं। दान दिया उसका अनुनाद आपको कईं गुना होकर मिलेगा। क्योंकि आपने पिछले जन्म में दिया था, इसलिए आप अमरिका आ पाए और एक अच्छा जीवन जी रहे हैं। वर्ना अमरीका आना क्या आसन है? आपके पास बहुत पुण्य है, इसलिए आप प्लेन में सफर कर सकते हैं। कितने ही लोगों ने तो प्लेन कभी देखा भी नहीं होगा।

×
Share on
Copy